281018 1024x577 1

क्या आप बैंगन में लगने वाले कीड़ों से परेशान है?

बैंगन की खेती किसानों के लिए बहुत महत्वपूर्ण खेती के रूप में जानी जाती है। लेकिन किसान भाइयो बैंगन की खेती में एक बहुत बड़ी समस्या आती है। जिसका नाम है Fruit & Shoot Borer यानी तना छेदक व फल छेदक इस बीमारी से बेंगन की खेती में बहुत ज्यादा नुकसान होता है जिससे किसान का मनोबल टूट जाता है और वो खेती बंद कर देता है।

Fruit & Shoot Borer यानी तना छेदक व फल छेदक बीमारी के लिए जापानी कंपनी सुमिटोमो केमिकल का प्रोडक्ट है सुमिप्रेमप्ट जिसको काले घोड़े वाली दवाई के नाम से भी जाना जाता है।

दवा का डोज (स्प्रे द्वारा) – सुमिप्रेमप्ट का प्रयोग आपको 2 ml प्रति लीटर के हिसाब से करना है एवं हर 3 दिन के अंतराल पर आपको बैंगन की फसल में सुमिप्रेमप्ट के 3 स्प्रे करने है।

  • पहला स्प्रे – 2 ml प्रति लीटर के हिसाब से सुमिप्रेमप्ट का प्रयोग
  • दूसरा स्प्रे – पहले स्प्रे के 3 दिन के बाद सुमिप्रेमप्ट की मात्रा 2 ml प्रति लीटर
  • तीसरा स्प्रे – दूसरे स्प्रे के 3 दिन के बाद सुमिप्रेमप्ट की मात्रा 2 ml प्रति लीटर

बैंगन की फसल में सुमिप्रेमप्ट का स्प्रे करने के फायदे।

बैंगन की फसल में सुमिप्रेमप्ट का स्प्रे करने से बैंगन की फसल की मुख्य समस्या तना छेदक व फल छेदक (Fruit & Shoot Borer) पूरी तरह से कंट्रोल हो जाता है। और आपके बैंगन का पौधा एकदम हरा भरा और मजबूत हो जायेगा जिसके कारण आपके बैंगन में भरपूर मात्रा में फल बनेंगे, सुमिप्रेमप्ट का स्प्रे करने से बैंगन के फल का साइज बढ़ेगा और कलर सही आएगा और आपको होगा ज्यादा मुनाफा।

साथ ही साथ सुमिप्रेमप्ट का बैंगन की फसल में स्प्रे करने से बैंगन की फसल में सफ़ेद मक्खी का प्रकोप भी काम होगा सफ़ेद मक्खी बैंगन की फसल को बहुत नुकसान पहुंचाती है।

किसान भाइयो अभी अपने नज़दीकी रिटेलर से संपर्क करें और अपनी बैंगन की फसल के लिए लेकर आएं सुमिटोमो केमिकल का सुमिप्रेमप्ट। ज़्यादा जानकारी के लिए हमारी वीडियो देखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.